loading

कर्क राशि (Cancer)

  • Home
  • कर्क राशि (Cancer)

कर्क राशि (Cancer) — (हि, हु, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

 

 

जनवरी – तारीख 16 तक शनि की दृष्टि, फिर तारीख 17 से शनि की ढैय्या का प्रभाव रहने से मानसिक तनाव, उत्तेजना, क्रोध अधिक तथा स्वास्थ्य कष्ट रहे। मन के अनुकूल कार्य न होने से परेशानी अनुभव होगी। गुरु की शुभ उच्च दृष्टि होने से भाग्य से धन प्राप्ति और मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

फरवरी-समाज में मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी। पारिवारिक वातावरण कुछ बेहतर होगा। धार्मिक समागमों में आना-जाना होगा। पुरुषार्थ करने से आत्मबल विकसित होगा। व्यवसायिक में क्षेत्रों में रुकावटों के बावजूद निर्वाह योग्य आय के साधन बनते रहेंगे।

मार्च – भाग्य एवं परिस्थितियों के साथ न देने के कारण खिन्नता का अनुभव हो सकता है। भाग्य से धन प्राप्ति और मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। अति महत्त्वपूर्ण कार्य के लिए भागदौड़ होगी। व्यर्थ की चिन्ता और बनते कार्यों में विलम्ब होने के योग हैं।

अप्रैल – तारीख 27 तक गुरु की दृष्टि रहने से किसी मित्र की सहायता से रुका हुआ कार्य ब | बनेगा। पारिवारिक सुख में वृद्धि होगी। दैनिक कार्यों में प्रगति होगी। व्यापार को बढ़ाने में मित्रों और सम्बन्धियों का सहयोग प्राप्त होगा। नए लोगों से मेल-जोल होगा।

मई – कार्य-व्यवसाय में व्यस्तताएं बढ़ेंगी। तारीख 10 से मंगल इसी राशि पर संचार करने 15 से परिवार में व्यर्थ की परेशानी रहेगी। विलासादि कार्यों पर धन का खर्च अधिक रहे 1 अत्यधिक खर्ची के कारण परेशानी का सामना हो।

जून- व्यर्थ की यात्रा में परेशानी व खर्च अधिक होगा। भागदौड़ के उपरान्त भी गुज़ारे भ योग्य धन प्राप्त होने में विलम्ब होगा। स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। किसी पर क्रोध न करें अन्यथा लाभ के मार्गों में रुकावट आएगी।

जुलाई- व्यवसाय में आंशिक लाभ। स्वास्थ्य मध्यम, विद्या और सन्तान की ओर से से चिन्ता, किसी नवीन कार्य की योजना बने। आय के साधनों में वृद्धि का योग है, किन्तु व्यय अधिक होने से मानसिक तनाव एवं उलझनें बढ़ेंगी।

अगस्त- नए कार्यों को योजनाबद्ध तरीके से करने पर ही लाभ होगा। भूमि-जायदाद सम्बन्धी मामलों में तनाव उत्पन्न होगा। निकट बन्धुओं से गलतफ़हमी उत्पन्न होगी। परिवारिक माहौल में उथल-पुथल होगी।

सितम्बर – किसी निकट-बन्धु से धोखा मिलने के योग हैं। परन्तु अकस्मात् किसी बिगड़े हुए कार्य के बन जाने से खुशी का माहौल बनेगा। आर्थिक दृष्टि से इस अवधि में आप निरर्थक मामलों में उलझे रहेंगे।

अक्तूबर- किसी महत्त्वपूर्ण कार्य में विघ्नों के पश्चात् सफलता प्राप्त होगी। आकस्मिक खर्च बढ़ेंगे, निकटस्थ बन्धु से धोखा मिलने के संकेत हैं, सावधानी बरतें। घरेलु उलझनों | के कारण विलम्ब व विघ्न उत्पन्न होंगे।

नवम्बर – वृथा खर्चों की परेशानी होगी। भागदौड़ के बावजूद आय अल्प रहेगी। व्यर्थ के झंझटों और वाद-विवाद से दूर रहें, अन्यथा हानि होगी। गुज़ारे योग्य धन लाभ व उन्नति के योग हैं। तारीख 16 तक ‘कार्तिक माहात्म्य’ का पाठ करते रहें।

दिसम्बर-मासारम्भ में पंचमस्थ सूर्य पर शनि की विशेष दृष्टि रहने से कारोबार में कई प्रकार के उतार-चढ़ाव व अन्य परेशानियां रहेंगी। पारिवारिक मनमुटाव रहेगा। तारीख 16 के बाद हालात में कुछ सुधार व कुछ बिगड़े कार्य बनेंगे। उच्च-प्रतिष्ठित लोगों से मेल-जोल होगा।

X